Seo in hindi

seo in hindi

SEO किसे कहते हैं?

SEO एक advanced system होता है। जो हमारी website को सटीकता से जानता है। और हमारी पोस्ट को कितना डिमांड देना है यह तय करता है।

SEO का फुल फॉर्म क्या है?

Search engine optimization ये SEO का लॉन्ग फॉर्म होता है।अब आपके मन में आया होगा कि सर्च इंजन क्या होता है?सर्च इंजिन का मतलब है कि हर चीज की जानकारी सरवर में सेव करना और लोगों को प्राप्त कराना इसे सर्च इंजन कहते हैं। अब दुनिया में सबसे ज्यादा एडवांस सर्च इंजन गूगल को माना जाता है।

SEO काम कैसे करता है?

अब आप मान लो कि what is internet एक विषय है। इस पर सो websites ने काम करके what is internet की जानकारी दी है। अब Google सो वेबसाइट में Google Scholar को भेजेगा। अब यह Scholar 100 वेबसाइट पर जाकर what is internet के विषय पर उन website ने कैसे लिखा है, कितने अक्षर लिखे हैं, पढ़ने में आसान है या नहीं, कॉपी पेस्ट है या नहीं, what is internet के विषय को किस तरह समझाया है और कितने Backlinks इस विषय पर है। यह सभी जानकारी Google Scholar स्केन करता है। और सो website में से अच्छी 10 websites को चुनता है। और उनको टॉप 10 में रैंक कराता है।
उसके बाद Google Bounce rate को महत्व देता है। मतलब Top 10 वेबसाइट में से कौन सी website पर लोग ज्यादा देर रुकते हैं, उस website को Google नंबर 1 पर रखता है क्योंकि Google को पता है कि जिस website पर लोग ज्यादा देर रुकते है वह पढ़ने लायक होती हैं।

SEO के प्रकार

1) White Hat SEO
2) Black Hat SEO
3) Grey Hat SEO

White Hat SEO

यह एक SEO का प्रकार होता है। जो हमें यूज़ करना चाहिए। गूगल कंपनी भी White Hat SEO को यूज करने के लिए कहती है। White Hat SEO का मतलब यह होता है कि वेबसाइट को legal तरीके से रैंक कराना। White Hat SEO को फॉलो करके हम हमारी वेबसाइट की Authority और Ranking को बढ़ा सकते हैं।


Black Hat SEO

Black Hat SEO यह भी एक SEO का हिस्सा होता है। मगर यह White Hat SEO से बहुत अलग है। Black Hat SEO हमारी साइट को बहुत बड़ा नुकसान कर सकता है। हमारी वेबसाइट गूगल में सर्च इंजिन में ब्लैक लिस्ट में जा सकती है। मतलब आपकी वेबसाइट बाद में गूगल में कभी नहीं दिखेगी। Black Hat SEO से हम वेबसाइट को तेजी से Rank कर सकते हैं। पर यह गूगल की नजरों में illegal तरीका है। यह गूगल की terms condition को फॉलो नहीं करता है। इसलिए हमें यह तरीका कभी नहीं अपनाना है।

• निचे दिए गए points को ध्यान में रखते हुए उनकों वेबसाइट में यूज नहीं करना है।

1) किसी दूसरे की वेबसाइट के Content को कॉपी करके, उसमें थोड़ा सा बदलाव करके अपनी पोस्ट में डालना।

2) अपने Content में बोहोत सारे Keyword को इस्तेमाल करना।

3) अपने Content में Hidden text और Hidden links को इस्तेमाल करना।

4) बिना फायदे वाली Back links को बनाना।

Grey Hat SEO

Grey Hat SEO हम यूज ना ही करें तो बेहतर है। क्योंकि Grey Hat SEO मे White Hat SEO और Black Hat SEO का इस्तेमाल होता है। Grey Hat SEO को बहुत सावधानी से युज करना होता है। क्योंकि गूगल बहुत Advanced हो गया है Black Hat SEO को आसानी से जान लेता है। इसलिए Grey Hat SEO को इस्तेमाल करना हमारी वेबसाइट के लिए खतरनाक हो सकता है।

Page SEO कैसे करते हैं।

Page SEO में दो प्रकार होते हैं। On Page SEO और Off Page SEO.

On Page SEO

हम जो पोस्ट लिख रहे हैं उसे SEO Friendly बनाना, इसे ही On Page SEO कहते हैं। On Page SEO सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि पोस्ट को Google में Rank कराने के लिए On Page SEO 95% मदद करता है।

•निचे दिए गए Points को ध्यान में रखते हुए पोस्ट को लिखें।

1) H1 Heading को एक ही बार इस्तेमाल करना है।

2) H1 में हमें पोस्ट का Title मतलब  Keyword ही लिखना है।

3) H1 के अंदर H2 आना चाहिए और H2 के अंदर H3 आना चाहिए। इसी तरह H3 के अंदर H4 आना चाहिए। इससे यह फायदा होता है कि गूगल हमारे पोस्ट को अच्छी तरह से समझ पाता है।

4) H2, H3, H4 Heading को हम कितनी भी बार यूज कर सकते हैं।

5) पोस्ट का Keyword हम पोस्ट में बार-बार यूज नहीं कर सकते। keyword को 1000 Words में केवल 4-5 बार इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा Google ने कहा है।

6) पोस्ट को जितना हो सके उतना बड़ा लिखना चाहिए। पोस्ट में 1000 से 2000 शब्द तो होने ही चाहिए जिससे Ranking में मदद होती है।

7) हम जिस विषय पर पोस्ट लिख रहे हैं, उसी विषय पर कोई रिलेटेड पोस्ट हो तो उसका link इस पोस्ट में देना चाहिए।

8) पोस्ट पढ़ने में आसान और सरल शब्दों में होना चाहिए।

9) पोस्ट में 1-2 फोटो डालनी चाहिए जिससे पोस्ट अच्छी दिखती हैं।

10) पोस्ट में images का यूज करने से पहले उन images को Compress करना चाहिए जिससे हमारी वेबसाइट फास्ट लोड होगी।

11) image के अंदर उस image का title डालना बहुत जरूरी होता है।

12) Yoast plugin का इस्तेमाल करना चाहिए जो WordPress पर फ्री में मिल जाती है। इस plugin में हमारी पोस्ट की कमियों को दिखाया जाता है, उसे हमें जरूर ठीक करना चाहिए।

Off Page SEO

Off Page SEO को 5% का महत्व दिया जाता है। क्योंकि On page SEO जबरदस्त हो तभी ही Off page SEO काम करता है। इसीलिए On page SEO को 95% और Off page SEO को 5% महत्व दिया जाता है। Off page SEO में Social media और Backlinks का उपयोग होता है।

Social media

आज सोशल मीडिया के बहुत फायदे होते हैं, तो इसका फायदा हम Website वाले भी ले सकते हैं। मतलब जो हमने पोस्ट लिखी है उसे सभी सोशल मीडिया पर शेयर करना चाहिए। इससे यह होगा कि हमारी Post किसी को पसंद आएगी। वह दूसरे लोगों को share करेगा। इस कारण हमारी पोस्ट की link बहुत जगह share हो जाएगी और हमें traffic बढ़ाने में मदद मिलेगी।


Backlinks

Backlinks का मतलब यह होता है कि, दूसरे की Website पर हमारी पोस्ट का link हो ना, इसे ही Backlinks कहते हैं। अब Backlinks के साधारण दो प्रकार होते हैं, Dofollow Backlinks और Nofollow Backlinks.

Dofollow Backlinks

आप मानलो कि आपकी पोस्ट की link आपने दूसरे की website में डाली है। अब आपने डाली हुई link से लोग भी आपकी साइट पर आ सकते हैं और सबसे महत्वपूर्ण Google Scholar भी आपकी साइट पर आ सकता है। इसे ही Dofollow backlinks कहते हैं। Dofollow backlinks से हमारी वेबसाइट गूगल की नजरों में trustable साबित होती है।

dofollow backlinks कैसे बनाएं ?

हमें जिस वेबसाइट पर dofollow backlinks बनानी है, उस वेबसाइट के Contact पेज पर जाकर उस website के मालिक से Contact करना है, और Dofollow backlinks के लिए पूछना है। आजकल की वेबसाइट पर Dofollow backlinks बनाने के लिए website के मालिक हमसे कुछ पैसे लेते हैं, और हमारी पोस्ट की Dofollow backlinks उनकी वेबसाइट पर डालते हैं।
Dofollow backlinks बनाने के बहुत सारे मार्ग होते हैं, जैसे की Guest post लिखना, Wikipedia पर लिंक add करना।


Nofollow Backlinks

Nofollow Backlinks से आपकी पोस्ट rank होने में कोई मदद नहीं होती है। आपकी पोस्ट पे सिर्फ लोग ही आ पाते हैं, पर सबसे महत्वपूर्ण Google Scholar आपकी पोस्ट पर नहीं आ पाता है। इसलिए पोस्ट ranking में nofollow Backlinks फायदेमंद नहीं होता है, लेकिन website को nofollow Backlinks से फायदे भी होते हैं जैसे कि हमारी website का traffic बढ़ता है। Google AdSense की कमाई बढ़ती है। कुछ हद तक popularity बढ़ती है और return visitor भी बढ़ जाते हैं।

Nofollow Backlinks कैसे बनाएं।

Nofollow Backlinks बनाना बहुत ही आसान होता है जैसे कि आपने जिस बारे में पोस्ट लिखी है उस बारे में और भी website वालों ने पोस्ट लिखी होती है, तो उन website पर जाकर उनकी पोस्ट पर coment करना होता है। उस coment box में website link का option होता है। उसमें हम अपने पोस्ट का link डाल सकते हैं। इस तरह आसानी से Nofollow Backlinks बना सकते हैं।

• निचे दिए गए Points को ध्यान में रखते हुए Backlinks बनाएं

1) High quality backlinks ही बनाना चाहिए। मतलब मान लो कि आपने Health रिलेटेड पोस्ट लिखी है तो आपको Health रिलेटेड website में ही backlinks बनानी चाहिए।

2) Porn website और Spam website में आपको backlinks नहीं बनानी चाहिए।

3) बड़ी-बड़ी वेबसाइट पर backlinks बनानी चाहिए, जिनका DA-PA ज्यादा हो, जिससे हमारी पोस्ट फास्ट rank होती है।

4) पैसे लेकर backlinks बना कर देने वाली कंपनियों से हमें दूर ही रहना चाहिए।

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here